चुनाव आयोग के प्रेस कॉन्फ्रेंस का समय बदलने पर कांग्रेस ने उठाये सवाल

चुनाव आयोग मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मिजोरम में विधानसभा चुनाव का कार्यक्रम शनिवार को घोषित कर सकता है. माना जा रहा है कि हाल ही में भंग की गयी तेलंगाना विधानसभा के लिये भी इन राज्यों के साथ चुनाव की तारीख घोषित की जा सकती है.

 

कांग्रेस ने चुनाव आयोग द्वारा शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस का समय बदले जाने को लेकर आयोग की ‘स्वतंत्रता’ पर सवाल खड़े किए. कांग्रेस ने परोक्ष रूप से यह आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनसभा की वजह से आयोग ने यह कदम उठाया है.

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘आपके सामने तीन तथ्य रखता हूँ जिससे आप निष्कर्ष पर पहुंच सकते हैं. पहला यह कि चुनाव आयोग ने पांच राज्यों में चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के लिए दिन में 12.30 बजे संवाददाता सम्मेलन बुलाया.’

उन्होंने कहा, ‘दूसरा तथ्य यह कि प्रधानमंत्री मोदी दिन में एक बजे अजमेर में जनसभा कर रहे हैं. तीसरा यह कि कि चुनाव आयोग ने अचानक से संवाददाता सम्मेलन का समय बदलकर तीन बजे कर दिया.’ सुरजेवाला ने सवाल किया, ‘क्या चुनाव आयोग स्वतंत्र है ?’

आयोग ने शनिवार दोपहर बाद संवाददाता सम्मेलन बुलाया है. हालांकि आयोग ने पूर्व निर्धारित संवाददाता सम्मेलन के कार्यक्रम में तब्दीली कर इसे ढाई घंटे विलंबित कर दिया. आयोग के एक अधिकारी ने बताया कि संवाददाता सम्मेलन को मुख्य चुनाव आयुक्त ओ पी रावत और चुनाव आयुक्त अशोक लवासा एवं सुनील अरोड़ा संबोधित करेंगे.

गौरतलब है कि चुनाव आयोग मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मिजोरम में विधानसभा चुनाव का कार्यक्रम शनिवार को घोषित कर सकता है. माना जा रहा है कि हाल ही में समय से पहले भंग की गयी तेलंगाना विधानसभा के लिये भी इन राज्यों के साथ चुनाव की तारीख घोषित की जा सकती है.

आयोग ने शनिवार को दोपहर बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाया है. हालांकि आयोग ने पूर्व निर्धारित प्रेस कॉन्फ्रेंस के कार्यक्रम में तब्दीली कर इसे ढाई घंटे विलंबित कर दिया.

आयोग के एक अधिकारी ने बताया कि प्रेस कॉन्फ्रेंस को मुख्य चुनाव आयुक्त ओ पी रावत और चुनाव आयुक्त अशोक लवासा एवं सुनील अरोड़ा संबोधित करेंगे. आयोग के अधिकारियों ने पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव का कार्यक्रम घोषित किये जाने के बारे में कोई जवाब नहीं दिया.

Related posts